समर्थक

सोमवार, 27 मई 2013

टीटू बन्दर चला एक दिन बन-ठन कर ससुराल

Monkey : Illustration of a smart business monkey  Monkey : Business monkey on a white background

टीटू बन्दर चला एक दिन बन-ठन कर ससुराल ,
जेठ की गर्मी में लू खाकर हाल हुआ बेहाल !

सासू माँ ने  पिलवाई  उसको   कोकाकोला ,
दम में दम आई तब जाकर टीटू बन्दर बोला !

सासू माँ तुम कितनी अच्छी ठंडा मुझे पिलाया ,
मैं भी गठरी में रखकर कुछ तुम को देने आया !

गठरी खोली सासू माँ ने उसमे था खरबूजा  ,
ले बलैय्या टीटू की बोली न तुझ सा दूजा !

मीठा मीठा खरबूजा दोनों ने काट के खाया ,
गर्मी के इस मौसम का मिलकर लुत्फ़ उठाया !

शिखा कौशिक 'नूतन'

4 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

.रोचक प्रस्तुति .आभार . छत्तीसगढ़ नक्सली हमला -एक तीर से कई निशाने

साथ ही जानिए संपत्ति के अधिकार का इतिहास संपत्ति का अधिकार -3महिलाओं के लिए अनोखी शुरुआत आज ही जुड़ेंWOMAN ABOUT MAN

शालिनी कौशिक ने कहा…

.रोचक प्रस्तुति .आभार . छत्तीसगढ़ नक्सली हमला -एक तीर से कई निशाने

साथ ही जानिए संपत्ति के अधिकार का इतिहास संपत्ति का अधिकार -3महिलाओं के लिए अनोखी शुरुआत आज ही जुड़ेंWOMAN ABOUT MAN

Vinnie Pandit ने कहा…

aap ne badi manoranjak kthaa sunaai hai jo labhakaarI bhI hai.!!

Please visit my blog unwarat .com After reading article or story please give your comments.
Vinnie

Chaitanyaa Sharma ने कहा…

मजेदार कविता