समर्थक

शनिवार, 29 दिसंबर 2012

मैडम बिल्ली मुंबई वाली


https://encrypted-tbn1.gstatic.com/images?q=tbn:ANd9GcQdhfXUTr-JCSqLBYtB-X1yHBIck4dp1LCqr9cWF2ANpjjQcQkPqzbIXQ2X
 मैडम बिल्ली मुंबई वाली पहने हाई हील
मटक मटक कर चलती हैं जब होता गुड गुड फील 

एक दिन पीछे पड़ गया उनके डॉगी  एक शैतान
दौड़ी लेकर हाथ में सैंडिल तभी बची फिर जान 
उस दिन से वे घूम रही हैं बच्चो नंगे पैर
इसी वजह से बिल्ली मैडम का डॉगी से बैर
     
                         शिखा कौशिक 'नूतन'

बुधवार, 5 दिसंबर 2012

मम्मी क्यों थी डांट पिलाती ?


Cartoon_mouse : Cute cartoon mouse - vector illustration  Stock Photo

.





टिंकू चूहा करे शरारत ;
शैतानी की उसको आदत ,
मम्मी जब भी डांटे उसको ;
टिंकू को लगती वे आफत


एक दिन लेकर लम्बा डंडा
उसने चारो और घुमाया ,
टकराया दीवार से जाकर
धक्का खा वो संभल न पाया .


 लगी चोट फिर नाक पर आगे ,
खून निकल कर बाहर आया ,
दर्द हुआ फिर बड़ी जोर से ,
रोकर टिंकू था चिल्लाया .


 पापा डॉक्टर बुलाकर लाये ,
डॉक्टर ने मरहम लगाया ,
मम्मी क्यों थी डांट पिलाती ?
आज उसकी समझ में आया !!
                                 शिखा कौशिक 'नूतन '


मंगलवार, 20 नवंबर 2012

कितनी मुसीबत की थी घडी !

Squirrel (sachin_kakkar) Tags: india squirrel gillu gilhari sachinkakkar
 कितनी मुसीबत की थी घडी !
छोटी सी गिल्ली के सिर पर पड़ी ,

 पूसी नाम की बिल्ली
गिल्ली के पीछे थी पड़ गयी .


 गिल्ली थी थर थर थर कांप रही ,
फर फर फर भाग रही ,
सामने जब घर आ गया ,
जल्दी से जाकर घर में घुसी ,
कितनी मुसीबत की थी घडी !



 पूसी थी लेकिन जिद पर अड़ी ,
गिल्ली के घर के बाहर खडी ,
गिल्ली ने सोचा अब क्या करूँ ?
जिन्दा रहूँ या डरकर मरूं ?
कितनी मुसीबत की थी घडी !



 डॉगी  चिंटू  वहां आ गया ,
गिल्ली का था वो दोस्त बड़ा ,
भौंका वो पूसी को देख वहां ,
पूसी हो गयी वहां से हवा ,
मुसीबत की टल गयी थी घडी !


 गिल्ली ने खुश हो  ताली बजाई ,
डॉगी को लाकर  टॉफी खिलाई ,
बोली -मेरी जान बचाई !
दोस्ती है तुमने निभाई !
ये ही बात है सबसे बड़ी !
मुसीबत की टल गयी थी घडी !





http://farm2.static.flickr.com/1193/3168173665_52eedb8f83_m.jpg

                                                                                           



                                                                                   शिखा कौशिक 'नूतन '




रविवार, 15 जुलाई 2012

मम्मी हम भी गुडिया की शादी रचायेंगें !


मम्मी  हम भी गुडिया की शादी   रचायेंगें !


Marriage : Illustration of a Groom Lifting His Bride's Veil Stock PhotoDoll : Chinese wedding bride and bridegroom figurines on white backgroundMarriage : an illustration of an asian wedding with a man and woman dressed in saree and salwar kameez with intricate designs on a gold background Stock Photo
मम्मी  हम भी गुडिया की शादी   रचायेंगें    ;
गुड्डे के घर जायेंगें रिश्ता तय   कर आयेंगें ,
मम्मी   हम भी गुडिया की शादी  रचायेंगें    .
पंडित जी से दिन  निश्चित करायेंगें ;
सबको बुलाने को कार्ड भी छापवएंगें .
मम्मी हम भी .......
Doll : vintage doll portrait detail Stock PhotoMarriage : illustration of a a boy and a girl on a white backgroundMarriage : an illustration of an asian wedding with a man and woman dressed in saree and salwar kameez with intricate designs on a gold background Stock Photo शादी के दिन  सारे  घर को  सजायेंगें   ;
मंडप  बनायेंगें.....बंदरवार लगायेंगें .
मम्मी हम भी .....
बारात जब द्वारे पर आएगी ; 
आरती उतार कर तिलक लगायेंगें .
मम्मी हम भी ....
Marriage : Marriage Advice and Tips of a Successful One
जलपान में उनको  कॉफ़ी पिलायेंगें ;  
कोल्ड  ड्रिंक  टिक्की समोसा खिलायेंगें  .
मम्मी हम भी ...
गुडिया को सुन्दर सी दुल्हन बनायेंगें ;
नेट  वाला लहगा उसको  पहनायेंगें .
मम्मी हम भी ....
Marriage : Wedding arch with flowers decoration on the beachMarriage :  Illustration of a pretty girl readying for weddingMarriage :  Illustration of a pretty girl readying for wedding
वर माला जब एक दूजे को डालेंगें 
पुष्पवर्षा कर हम ताली बजायेंगें  .
मम्मी हम भी ...
भोजन में पूरी कचौड़ी परोसेंगें  ;
खीर हलवा रसगुल्ला  साथ में खिलायेंगें 
मम्मी हम भी ...
Marriage : Two rings in a box and two candles over red backgroundDoll : Japanese Hina Dolls
मंडप में जब उनके  फेरे  पड़ेंगें  ;
गुड्डे  के जूते चोरी करवायेंगें .
मम्मी हम भी ....
जूतों के बदले में नेग  कमायेंगें  ;
नाचेंगें  झूमेंगें धूम मचायेंगें .
मम्मी हम भी ...
फिर  जब गुडिया की होगी विदाई ;
गले लगाकर आंसू बहायेंगें .
मम्मी हम भी ...
                              
Marriage : couple go on honeymoon with his motorcycle decorated for the wedding                                                   शिखा कौशिक 

शुक्रवार, 6 जुलाई 2012

जोंटी की हार्दिक शुभकामनायें !


जोंटी  की हार्दिक शुभकामनायें !


उठाकर डिब्बा मिठाई का 
मैं हूँ मौज  मनाता ;



मालिक क्यूँ नाराज हैं ?
बस यही समझ न आता !




खाकर इस मिठाई को 
मन में  आनंद समाये ;
आप  सभी को प्रेषित हैं 
मेरी शुभकामनायें !
                                                with regards
                                             jaunty [your dear pet ]

शुक्रवार, 29 जून 2012

दादा जी हम नाना के घर घूम के आये हैं!


दादा  जी हम नाना के घर  घूम  के आये  हैं!




दादा  जी हम नाना के घर  घूम  के आये  हैं  ;
मामा   ने हमें चाट-पकौड़ी खूब  खिलाएं  हैं .

दादा जी वहां नाना जी लगते हैं आपके जैसे   ;
बिन  मांगें पकड़ा  देते   हैं  कुल्फी के  लिए  पैसे   ,
शैतानी करने  पर  हमको   डांट  पिलायें  हैं .
दादा जी हम नाना के .......

नानी  माँ में  दादी  माँ जैसा है रूप  समाया  ;
नई कहानी रोज़ सुनकर नैतिक  पाठ  पढाया  ,
आशीषें   देकर  हर  लेती  सभी बलाएं हैं .
दादा जी हम नाना के घर .........

मौसी कहती  बिलकुल  मम्मी जैसे लगते हो तुम ;
मामा कहते  हँसो  जरा  क्यों  बैठे  रहते  गुमसुम  ,
चूम के माथा  ,गोद उठाकर  हमें घुमाएँ हैं .
दादा जी हम नाना के घर घूम के आयें  हैं .
                                                               शिखा कौशिक  
                                       [मेरा  आपका  प्यारा   ब्लॉग   ]

बुधवार, 27 जून 2012

पापा तुम सिगरेट क्यों पीते हो ?






पापा  तुम  सिगरेट क्यों पीते  हो ?
LEAVE SMOKING BEFORE YOUR CHILDREN ASK YOU -



कश लेकर  धुँआ छोड़ देते हो 
सांसों  में  हमारी  जहर  घोल  देते हो ;
पापा  तुम  सिगरेट क्यों पीते  हो ?

सिगरेट  से हो जाता  कैंसर  
है  ये  बीमारी  भयंकर  
सेहत  से क्यों अपनी  खिलवाड़  करते  हो ?
पापा  तुम  सिगरेट क्यों पीते  हो ?

मेहनत  से पैसा कमाते हो 
क्यों धुएं  पर उड़ाते   हो ?
समझाने  पर ना  समझते हो .
पापा  तुम  सिगरेट क्यों पीते  हो ?

अब  तो रखो ख्याल 
छोड़ दो  धूम्रपान 
टोकने पर ऐसे क्यों बिगड़ते हो?
पापा  तुम  सिगरेट क्यों पीते  हो ?
                                                       SHIKHA KAUSHIK 

शनिवार, 12 मई 2012

मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनायें !


मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनायें !

[google se sabhar ]








NO ONE CAN LIKE YOU ! -HAPPY MOTHER'S DAY


O MOTHER ! O MOTHER !
NO ONE CAN LIKE YOU !

YOU ARE WITH US  WHEN WE ARE SAD
YOUR SWEET SMILE MAKE US GLAD
YOU ARE SO SWEET   OUR HEART BEAT
O MOTHER ! O MOTHER !
NO ONE CAN LIKE YOU !


NEVER GIVE UP HOPE  YOU ALWAYS SAY
WHEN WE CONFUSE  YOU SHOW RIGHT WAY
MAY YOU LIVE LONG HEALTHY STRONG
O MOTHER ! O MOTHER !
NO ONE CAN LIKE YOU !


हे  माँ ! हे माँ !
तेरे जैसा कोई नहीं !

तुम हमारे साथ   होती हो 
जब हम उदास होते हैं ;
तुम अपनी मीठी  मुस्कान  से
हमें  प्रसन्न  कर देती हो ;
तुम कितनी प्यारी हो !
हमारे दिल की धड़कन हो !

हे माँ ! हे माँ !
तेरे जैसा कोई नहीं !
तुम हमेशा कहती हो आशा 
का दामन  मत छोडो ;
जब हम भ्रमित होते हैं 
तुम सही मार्ग दिखाती हो ;
तुम दीर्घजीवी हो !स्वस्थ हो !
शक्तिसंपन्न हो !

हे माँ ! हे माँ ! तेरे जैसा कोई नहीं !

                        शिखा कौशिक 


मंगलवार, 8 मई 2012

मानवता का ये अनुपम पाठ !


मानवता का ये अनुपम पाठ !

A Woman and a Parrot - Royalty Free Clipart Picture
एक  दिवस शैतान 
वो 'मुन्ना' गया   
घूमने   पापा   संग ;
सड़क किनारे  देंखे  
पिंजरे  जिसमे थे 
कुछ  तोते बंद .
A Red and Blue Parrot Flying In the Air - Royalty Free Clipart Picture

बोला -पापा इन्हें  
खरीदो  ;घर  में  
हम  इन्हें रखेंगे
इनके संग संग
सुबह-शाम 
खूब  मजे से खेलेंगे .
Picture Of A Colorful Parrot Sitting On A Tree Branch With His Wings Spread Out

पापा बोले   'मुन्ना राजा '
अगर तुम्हे मैं     
घर से बाहर यहाँ 
घुमाने न लाता ;
घर के  भीतर ही भीतर 
क्या तुमको अच्छा लग पाता ?
A Boy Holding a Parrot - Royalty Free Clipart Picture

आओ इनको  पिंजरों से 
आजाद  करा दें 
मिलकर हम ;
खुले गगन में जब   
ये विचरें    ;
तब लगते हैं सुन्दरतम ,
A Parrot In Flight - Royalty Free Clipart Picture
मुन्ना बोला पापा 
मेरे आप हो  जग में 
नंबर वन ;
आज पढाया पाठ मुझे  
मानवता का ये अनुपम  !
A Parrot and Macaw - Royalty Free Clipart Picture

                                     shikha  kaushik  

                             

बुधवार, 28 मार्च 2012

''मिशन लन्दन ओलम्पिक गोल्ड ''


जूनून जूनून हमें हॉकी का जूनून 


भारतीय हॉकी पुरुष  टीम को लन्दन ओलंपिक हेतु हार्दिक शुभकामनायें !





मैदान में आ संभल कर जरा ;
हमसे न ऐसे आखें मिला ;
स्टिक नहीं ये तलवार है ;
भिड़ने को हम भी तैयार हैं ;
उबलने लगा हमारा भी खून  !
जूनून जूनून हमें हॉकी का जूनून !


चुनौती  नहीं ये ललकार है 
आ जा अगर स्वीकार है ;
हमको यकीन होने वाला है ये ;
जीत हमारी तेरी हार है ;
हराकर ही तुझको आये सुकून !
जूनून जूनून हमें हॉकी का जूनून !
                         जय हिंद! जय भारत   !
                      शिखा कौशिक  




[फेसबुक  पर  इस  पेज  को  लाइक  करें ]


''मिशन  लन्दन ओलम्पिक  गोल्ड  ''

मिशन लन्दन ओलंपिक हॉकी गोल्ड

रविवार, 25 मार्च 2012

''अक्षिता '' [पाखी ]को उनके जन्मदिन पर हार्दिक शुभकामनायें

 ''अक्षिता '' [पाखी ]को उनके जन्मदिन पर  हार्दिक शुभकामनायें !

Laughter And Love.


सर्वप्रथम हमारी प्यारी सी परी ''अक्षिता '' [पाखी ]को उनके जन्मदिन पर हमारी ओर से हार्दिक शुभकामनायें .ऐसी ही प्यारी बेटियों की ओर से अपने शब्दों में प्रस्तुत कर रही हूँ ये रचना -






हम  नन्ही -नन्ही  देवी  हैं ;
हमको है सबसे ये कहना ;
कन्या भ्रूण  को मत मारो ;
वे भी हम सबकी हैं बहना .




कन्या उज्जवल करती दो कुल ;
माता,पुत्री, पत्नी,बहना ;
नौ दिन पूजा कर लेने से 
नहीं पाप तुम्हारा  है धुलना .
                                        [सभी फोटोस  गूगल से साभार ]


पूजन नहीं, हमें वचन दो 
ऐसे पाप को रोकोगे ;
स्वयं कभी ऐसा करने की 
मन से भी ना सोचोगे .


                              शिखा कौशिक 
                        शालिनी कौशिक 

गुरुवार, 22 मार्च 2012

नन्ही -नन्ही देवी को वचन दो !







हम  नन्ही -नन्ही  देवी  हैं ;
हमको है सबसे ये कहना ;
कन्या भ्रूण  को मत मारो ;
वे भी हम सबकी हैं बहना .




कन्या उज्जवल करती दो कुल ;
माता,पुत्री, पत्नी,बहना ;
नौ दिन पूजा कर लेने से 
नहीं पाप तुम्हारा  है धुलना .
                                        [सभी फोटोस  गूगल से साभार ]


पूजन नहीं, हमें वचन दो 
ऐसे पाप को रोकोगे ;
स्वयं कभी ऐसा करने की 
मन से भी ना सोचोगे .


                              शिखा कौशिक 

मंगलवार, 20 मार्च 2012

आज ''गौरैया -दिवस '' है


[गूगल से साभार ]
आज ''गौरैया -दिवस  '' है  .हमारी प्यारी चिड़िया  -

''हमारे  आस -पास  फुदकती  रहो ;
हमारे  आँगन  में  आकर  चहकती रहो ''


फुदक-फुदक कर डोल रही है 
मेरी बगिया में एक चिड़िया .

कितना मीठा बोल रही है ;
मेरी बगिया में एक चिड़िया .

फव्वारे में नहा रही है ;
मेरी बगिया में एक चिड़िया .

सबका मन बहला रही है ,
मेरी बगिया में एक चिड़िया .

                           शिखा कौशिक 

सोमवार, 5 मार्च 2012

'विश्व पुस्तक मेला''-एक छोटी सी झांकी



3 मार्च २०१२ को मैं अपने पिता जी के साथ दिल्ली ''विश्व पुस्तक मेला'' भ्रमण पर गयी थी .वहीँ मैंने कुछ फोटोस  मोबाइल से लिए  हैं .यदि आप यहाँ नहीं जा  पायें  हैं तो एक  छोटी  सी झांकी  का  आनंद तो ले ही सकते हैं -

११ number   के पैवेलियन का प्रवेशद्वार 
हिंदी के सभी चर्चित प्रकाशकों की  स्टॉल इसी में थी 


मेरे पिता जी ''नक्षत्र''के पैवेलियन में 
इसमें ज्योतिष की पुस्तकों के अतिरिक्त  ज्योतिष सम्बंधित सामान की स्टॉल  भी थी 



गीता प्रेस की स्टॉल 
इसके विषय में सभी का विचार था कि
इस पर हमेशा  भीड़ रहती  है क्योकि इस प्रकाशन में बहुमूल्य  पुस्तकें कम कीमत पर उपलब्ध है 

एक प्रकाशन ने माता सरस्वती जी की यह 
प्रतिमा स्टॉल पर लगाई जो अनायास ही सबका ध्यान आकर्षित कर रही थी 

भारत सरकार की विधि साहित्य की इस  स्टॉल का भी हमने अवलोकन किया .

वाणी प्रकाशन की स्टॉल बहुत   आकर्षक लगी  .
नेशनल बुक  ट्रस्ट की स्टॉल भी दर्शकों के लिए पलकें बिछाए थी .
दर्शकों की सूचनार्थ इस तरह के सूचना-पट्टिकाएं  भी लगाई  गयी  थी 
यह राजकमल प्रकाशन की सूचना पट्टिका है .
किताबघर  प्रकाशन की स्टॉल में भी भ्रमण किया हमने .

ये महाशय ! बने बच्चों की पहली पसंद तो मैंने भी 
इन्हें रोककर ले लिया  इनका एक फोटो . 

यही  भेंट हुई DDnews  के SR .CORRESPONDENT  
श्री गिरीश निशाना जी से [दायें]
यहाँ भी अन्ना के आन्दोलन से जुड़ने का 
आह्वान   करती   एक   स्टॉल   लगाई   गयी   थी   
युवा वर्ग के लिए यह मुख्य आकर्षण का केंद्र  रही  .
मेरे द्वारा ली गयी कुछ पुस्तकें .

आशा है पुस्तक मेले रुपी अर्णव की एक बूँद रुपी यह झलक आपको भायी होगी .कैसी लगी आपको यह प्रस्तुति जरूर बताएं !
होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ 

शिखा कौशिक