समर्थक

गुरुवार, 16 मई 2013

चीनू बन्दर बड़ा शैतान




चुन्नी और चुन्नू का बेटा ,
चीनू बन्दर बड़ा शैतान  ,
मोबाइल पर गेम खेलता ,
पढने का न लेता नाम !


हालत उसकी हो गयी पतली ,
सिर पर जब आये एक्जाम ,
मॉम ने उसको गोद बिठाकर ,
याद कराये पाठ तमाम !


डैडी बोले चीनू बेटा ,
आगे से तुम रखना ध्यान ,
खेल के चक्कर में पढाई का ,
करना मत अब नुकसान !


माफ़ी मांगी चीनू ने फिर ,
पकडे अपने दोनों कान ,
माफ़ किया जब मॉम -डैड ने 
तब आई मुख पर मुस्कान !

शिखा कौशिक 'नूतन' 



4 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज शुक्रवार (17-05-2013) के राजनितिक वंशवाद की फलती फूलती वंशबेल : चर्चा मंच-...1247 में मयंक का कोना पर भी है!
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

सदा ने कहा…

वाह ... बहुत ही बढिया ।

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

क्या बात
बहुत बढिया

शालिनी कौशिक ने कहा…

bahut hi lazavab.