समर्थक

रविवार, 23 जून 2013

बिल्लियों के मुखपर ये सुन ,आई है मुस्कान .

A Christmas between dogs and cats Funny Monkeys - Funny Monkey Picture 004 (FunnyPica.com) Kimono Kitty Day Two (2/365) Creative Commons

शैंकी मंकी ने खोली, जंगल में दुकान ,
चारों और खबर है फैली,बनकर के तूफ़ान .
****************************************
खाने पीने की नहीं ,नहीं घर का सामान ,
शॉप खुली है बैंगिल की ,रेट हैं एक समान .
****************************************
बैंगिल,कंगन,टीका,झूमर सब कुछ यहीं मिलेगा ,
बिल्लियों के मुखपर ये सुन ,आई है मुस्कान .
***********************************************
साड़ी,लहंगा,सूट पहनकर ,चली हैं वे इठलाकर,
शैंकी बेचे चूड़ी,कंगन ,खूब उन्हें मुस्काकर .
*************************************************
डिब्बे,डिब्बे खोल-खोलकर थक गया उन्हें दिखाकर ,
पसंद उन्हें न एक भी आई रह गया वो खिसियाकर .
*******************************************************
शैंकी की चोरी से बिल्ली ने एक बॉक्स छिपाया ,
तब शैंकी को सारा माजरा खूब समझ में आया .
***************************************************
शैंकी बोला बिल्लो रानी दिखता मुझे सभी है ,
तेरे पीछे लटके बैग में बैंगिल भरी पड़ी हैं .
**********************************************
बरसों पहले बिल्लियों से जीता था मैं हरदम ,
आज निकालोगी क्या मिलकर मेरा तुम सारा दम .
*************************************************
भूल थी मेरी मूर्ख समझकर शॉप यहाँ लगवाई ,
बंद करूँ अब इसी वक़्त ही इसमें मेरी भलाई .
************************************************


                       शालिनी कौशिक

1 टिप्पणी:

shikha kaushik ने कहा…

very nice to read this one .really amazing .