समर्थक

शनिवार, 13 नवंबर 2010

bal divas ki shubhkamnayen

प्यारे बच्चो,
                 कल  बाल दिवस है, बाल दिवस यानि हमारे देश के प्रथम प्रधानमंत्री और तुम बच्चो के प्यारे चाचा पंडित नेहरू का जन्म दिवस ;इस अवसर पर आपकी दीदी शिखा आपके लिए लाई हैं एक छोटी सी कविता,बताना कैसी लगी------
    "फूलों के जैसे महकते रहो,
   पंछी के जैसे चहकते रहो,
   ये है हमारी शुभ-कामना,
   हँसते रहो ,मुस्कुराते रहो.

निसदिन तुम कुछ सीखो नया,
जलाते रहो ज्ञान  का तुम दिया,
ये है हमारी शुभ-कामना,
हँसते रहो ,मुस्कुराते रहो.
सूरज की भांति चमकते रहो,
तितली के जैसे मचलते रहो,
ये है हमारी शुभ-कामना,
हँसते रहो,मुस्कुराते रहो.

मम्मी डेडी का आदर करो,
सुन्दर भावों से मन को भरो,
ये है हमारी शुभ-कामना,
हँसते रहो,मुस्कुराते रहो.

6 टिप्‍पणियां:

shalini kaushik ने कहा…

shikha bachcho ko aapki kavita to bad me pasand aayegi pahle to bachche aapke bhavo ko hi samajhkar prafuulit honge....

चैतन्य शर्मा ने कहा…

बहुत ही प्यारी कविता शिखा दीदी...... थैंक यू :)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति है!
--
बाल दिवस की शुभकामनाएँ!

Dinesh Maurya ने कहा…

Bahut achha laga .

Whatsapp Image ने कहा…

Here is Awesome Poems and Quotes for children's day for you:-> Children’s Day Whatsapp Quotes Poems In Hindi English For Church

ur ने कहा…

Good quotes for children's...Also see top 100 Whatsapp jokes