समर्थक

गुरुवार, 3 जनवरी 2013

क्यों पीछे पछताया !


नन्ही चिड़िया देर से जागी,
जाना था स्कूल ,
जल्दी जल्दी बैग उठाया ,
गई वो पुस्तक भूल .


क्लास में मैडम उससे बोली
चलो सुनाओ पाठ ,
नन्ही चिड़िया रोकर बोली
पुस्तक भूली आज .


 मैडम ने फिर पास बुलाकर
प्यार से था समझाया ,
काम करो सब सोच समझकर
क्यों पीछे पछताया !


 नन्ही चिड़िया ने रखी
मैडम की सीख ये याद ,
देती है वो बहुत बहुत
मैडम को धन्यवाद !
                      शिखा कौशिक 'नूतन'

4 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

very nice

Chaitanyaa Sharma ने कहा…

बहुत प्यारी कविता

RAHUL- DIL SE........ ने कहा…

एक नन्ही चिड़ियाँ के लिए ये कविता हमने चुरा ली है....आपको बुरा तो नहीं लगेगा न ?

RAHUL- DIL SE........ ने कहा…

एक नन्ही चिड़ियाँ के लिए ये कविता हमने चुरा ली है....आपको बुरा तो नहीं लगेगा न ?