समर्थक

शनिवार, 19 मार्च 2011

शेरू की होली पर अनोखी सजा

शेरू की होली पर अनोखी सजा !
गुल्लू बन्दर उड़ा रहा है,
गगन में पीला लाल गुलाल,
चुन्नी बिल्ली ले पिचकारी
मचा रही है बड़ा धमाल !

गुल्लू और चुन्नी  ने देखों
दो गुब्बारे दिए उछाल,
नीचे आते आते कर गए
शेरू शेर को पीला लाल!

खुद को पीला लाल देखकर
शेरू को गुस्सा था आया ,
गुल्लू चुन्नी डर कर भागे
पर शेरू उन्हें पकड़ ही लाया .

बोला शेरू फिर गुर्राकर
तुम दोनों को सजा मिलेगी ,
मेरी गुफा में चलना होगा
वहीँ सजा ये पता चलेगी !

दोनों डरते डरते पीछे
शेरू के फिर साथ चल दिए ,
गुफा के अन्दर जब वे पहुंचे
वे दोनों हैरान रह गए !

गुफा में सारे पशु पक्षी मिल
होली खूब मानते थे ,
बीच बीच में  गुझिया   
खाकर खूब आनंद मानते थे !

शेरू ने फिर से धमकाकर
उन दोनों को सजा सुनायी
खेलो गुफा के अन्दर होली
उनको मीठी गुझिया खिलवाई!

''आप सभी को होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाये '
                          शिखा कौशिक

14 टिप्‍पणियां:

शालिनी कौशिक ने कहा…

''आप को होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाये bahut badhiya.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

आपको और आपके पूरे परिवार को रंगों के पर्व होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

रंग-पर्व पर हार्दिक बधाई.

ममता त्रिपाठी ने कहा…

आपको, आपके परिजनों एवं मित्रों को

सप्तरंग

स्नेह

समानता

सौहार्द्र

सद्भाव

एवं स्वच्छता

के पर्व

पशुता पर

मानवता का

विजयपर्व

होली की हार्दिक शुभकामनायें।

सागर नाहर ने कहा…

क्या बात है। बहुत सुन्दर सजा सुनाई शेरू ने।

हरीश सिंह ने कहा…

" भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" की तरफ से आप को तथा आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामना. यहाँ भी आयें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो फालोवर अवश्य बने .साथ ही अपने सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ . हमारा पता है ... www.upkhabar.in

आनन्‍द पाण्‍डेय ने कहा…

ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

नि:शुल्‍क संस्‍कृत सीखें । ब्‍लागजगत पर सरल संस्‍कृतप्रशिक्षण आयोजित किया गया है
संस्‍कृतजगत् पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो संस्‍कृत के प्रसार में अपना योगदान दें ।

यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

धन्‍यवाद

चैतन्य शर्मा ने कहा…

बहुत मजेदार...बहुत-बहुत शुभकामनाएँ
main thoda deri se pahuncha :(

ज्योति सिंह ने कहा…

holi ki dhero badhai saath hi bachche mujhe priya hai hi aur unse judi hui har baate bhi ,achchi rachna .aabhari hoon aane ke liye .

हरीश सिंह ने कहा…

हमें तो आज शर्म महसूस हुयी ..भारत की जीत की ख़ुशी उड़ गयी ... आपकी नहीं उडी तो आईये उड़ा देते है.
डंके की चोट पर

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सुंदर कविता बधाई शालिनी जी |नवसम्वत्सर की शुभकामनाएं |

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सुंदर कविता बधाई शालिनी जी |नवसम्वत्सर की शुभकामनाएं |

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सुंदर कविता बधाई शालिनी जी |नवसम्वत्सर की शुभकामनाएं |

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

सुंदर कविता बधाई शालिनी जी |नवसम्वत्सर की शुभकामनाएं |